एप्पल कंपनी के संस्थापक स्टीव जॉब्स के आखिरी शब्द

Steve Jobs founder of Appleदोस्तों आजकल की इस भागदौड़ भरी जिंदगी में इंसान रात-दिन मेहनत करता है। वह तब-तक Work करता है, जब-तक उसमें क्षमता होती है। Sufficient पैसे होने के बावजूद वह पैसों के पीछे भागता रहता है। इसकी वजह से वह अपने Family तथा बच्चों को भी समय नहीं दे पाता है। और अंत समय में बस पछतावा ही रह जाता है, कि काश अपनी family के साथ कुछ समय बिता पाता ! जैसा की एप्पल कंपनी के संस्थापक स्टीव जॉब्स के साथ हुआ। Steve Jobs जब अपने जिंदगी की अंतिम साँसें ले रहे थे तो उन्हें केवल इसी बात का दुःख था कि वह अपने परिवार के साथ पर्याप्त समय न बिता सके ! उनके द्वारा कहे गए शब्द अंतिम शब्द, जिसे पढ़कर आप अपनी Busy Life में से अपनी Family के लिए कुछ वक्त जरूर निकालेंगे

एक समय था जब मैं व्यापार जगत की ऊँचाइयों को छू चुका था। लोगों की नजर में मेरी जिंदगी सफलता का एक बड़ा नमूना बन चुकी थी। लेकिन आज खुद को बेहद बीमार और इस बिस्तर पर पड़ा हुआ देखकर मैं कुछ अजीब महशूश कर रहा हूँ। पूरी जिंदगी मैंने कड़ी मेहनत की, लेकिन खुद को खुश करने के लिए या खुद के लिए समय निकालना जरूरी नहीं समझा। जब मुझे कामयाबी मिली तो बेहद गर्व महशूश हुआ, लेकिन मौत के इतने करीब पहुँचकर आज वो सारी उपलब्धियां फीकी लग रहीं हैं।

आज इस अँधेरे में, इन मशीनों से घिरा हुआ हूँ। मैं मृत्यु के देवता को अपने बेहद करीब महशूश कर सकता हूँ। आज मन में एक ही बात कि इंसान को जब यह लगने लगे की उसने भविष्य के लिए पर्याप्त कमाई कर ली है, तो उसे अपने खुद के लिए समय निकाल लेना चाहिए। बचपन का कोई अधूरा शौक, जवानी की कोई ख्वाहिश या फिर कुछ भी ऐसा जो दिल को तसल्ली दे सके।

किसी ऐसे के साथ वक्त बिताना चाहिए जिसे आप ख़ुशी दे सकें और बदले में उससे भी वही हाशिल कर सकें। क्योंकि जो पैसा मैंने सारी जिंदगी में कमाया उसे मैं साथ लेकर नहीं जा सकता हूँ। अगर मैं कुछ लेकर जा सकता हूँ तो वे हैं यादें। ये यादें ही तो हमारी “अमीरी” होतीं हैं, जिसके सहारे हम सुकून की मौत पा सकते हैं। क्योंकि ये यादें और उनसे जुड़ा प्यार ही एकमात्र ऐसी चीज है जो मीलों का सफर तय करके आपके साथ जा सकती है। आप जहाँ चाहें इसे लेकर जा सकते हैं। जितनी ऊंचाई पर चाहें ये आपका साथ दे सकती है। क्योंकि इन पर केवल आपका हक़ है।

जीवन के इस मोड़ पर आकर मैं आज बहुत कुछ महशूश कर सकता हूँ। जीवन में अगर कोई सबसे मँहगी वस्तु है, तो वह शायद “Death Bed” ही है। क्योंकि आप पैसा फेंककर आप किसी को अपनी गाड़ी का ड्राइवर बना सकते हैं, जितने मर्जी नौकर – चाकर अपनी सेवा के लिए लगा सकते हैं।

लेकिन इस “Death Bed” पर आने के बाद कोई दिल से आपको प्यार करे, आपकी सेवा करे, ये चीज आप पैसे से नहीं खरीद सकते। आज मैं यह कह सकता हूँ कि हम जीवन के किसी भी मोड़ पर क्यों न हों, उसे अंत तक खूबसूरत बनाने के लिए हमें लोगों का सहारा चाहिए। पैसा हमें सब कुछ नहीं से सकता।

मेरी गुजारिश है आप सबसे कि अपने परिवार से प्यार करें, उनके साथ वक्त बिताएं, इस बेशकीमती खजाने को बरबाद न होने दें। खुद से भी प्यार करें।
-आपका स्टीव जॉब्स ।

-साभार

loading...

Comments

  1. By Javed khan

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *