छोटे बच्चों की पढाई | बच्चे को घर पर कैसे पढ़ाएं?

बच्चों का पढ़ाई में मन कैसे लगाएं? कैसे बनाएं बच्चों के लिए घर पर पढ़ाई का माहौल बेहतरीन टिप्स

How to set the mind of children in studies? Know how to create a good home education environment for children in Hindi? : जैसा कि हम सभी लोग थोड़ी बातें तो जानते हैं, कि आज के समय में शिक्षा बहुत ही जरूरी है और बिना शिक्षा के किसी भी व्यक्ति का कोई भी अस्तित्व समाज में गिना नहीं जाता है। यही कारण है, कि आज बच्चों के माता-पिता अपने बच्चों के पढ़ाई के प्रति पहले से ही सचेत रहते हैं और एक बेहतर शिक्षा के लिए उन्हें गाइड करते रहते हैं। मगर ऐसे कई बच्चे होते हैं, जिनका मन पढ़ाई में नहीं लगता है और वे पढ़ने से कतराते हैं।अगर आपका भी बच्चा पढ़ाई से कतराते है, तो आज का यह लेख आपके लिए ही प्रस्तुत किया जा रहा है। आज के इस लेख में हम जानेंगे कि बच्चे का पढ़ाई में मन कैसे लगाएं (bacche ko ghar per kaise padhen)? और घर पर पढ़ाई का माहौल बनाने का बेस्ट तरीका क्या है (Children study at home tips in Hindi)? आज के इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में जानने हेतु लेख को अंतिम तक अवश्य पढ़ें।

बच्चों के लिए शुरुआती समय से ही पढ़ाई का माहौल बनाना क्यों जरूरी है (Why it is important for children to create a learning environment from the beginning)?

Bacho ko padhne ka tarika in hindi : अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर क्यों बच्चों के लिए पढ़ाई करने हेतु टिप्स जरूरी है। आज के समय में शिक्षा का स्तर काफी उच्च हो चुका है और स्कूलों में पढ़ाई के साथ-साथ घर में भी बच्चों को माता-पिता पढ़ाने के भरसक प्रयास करते हुए नजर आ रहे हैं। अगर आज के समय में आपको एक अच्छा जीवन जीना है, तो आपको एक अच्छी नौकरी करनी बेहद आवश्यक है।

नौकरी पाने के लिए लगभग सभी क्षेत्रों में पहले के मुकाबले बहुत ज्यादा प्रतिस्पर्धा बढ़ चुकी है और इसलिए हमें पहले के मुकाबले और भी ज्यादा प्रतिस्पर्धा को बीट करने के लिए अच्छी शिक्षा बेहद जरूरी है। अगर बच्चों का मन शुरुआती समय में ही पढ़ाई के प्रति नहीं लगेगा तो वे आगे उच्च स्तरीय शिक्षा को हासिल करने में नाकाम रहेंगे।

बिना उच्च स्तरीय शिक्षा के आज के समय में नौकरी पाना नामुमकिन है अर्थात सभी को ग्रेजुएशन पूरा करने के पश्चात कोई ना कोई अवश्य उच्च स्तरीय शिक्षा को ग्रहण करना पड़ता ही है। अगर आप बच्चों को शुरुआती समय में ही पढ़ाई के प्रति सचेत करेंगे और उन्हें बढ़ाई करने के लिए गाइड करेंगे, तो आगे चलकर उच्च स्तरीय शिक्षा को भी हासिल करने में कामयाब रहेंगे और अपना भविष्य उज्जवल बना पाएंगे। जब बच्चा पढ़ने योग्य हो जाए तभी से उसे पढ़ाई के प्रति सचेत करवा देना चाहिए और उसे पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए।

बच्चों को घर पर पढ़ाई करने के लिए कैसे प्रोत्साहित करें (How to encourage children to study at home in Hindi)?

अगर आप अपने बच्चे को घर पर पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करना चाहते हैं, तो कुछ आसान पेरेंटिंग टिप्स के जरिए आप अपने बच्चे को घर पर पढ़ने के लिए प्रोत्साहित कर सकते हैं। अगर आपका बच्चा घर पर पढ़ने से कतराते है, तो कुछ आसान एप्स को आप फॉलो कर सकते हैं (bacche ko padhane ke tips in hindi) और अपने बच्चे को पढ़ाई के लिए प्रोत्साहित कर सकते हैं।

  • बच्चे पढ़ाई के दौरान उसके साथ बैठे :-

    जब आपका बच्चा पढ़ाई करने के लिए बैठे तो उसे उसी दौरान पढ़ने के लिए मोटिवेट करना सबसे बेहतरीन तरीका आपके लिए हो जाता है। जब बच्चा पहले तो आप भी उसके साथ बैठ कर उसे पढ़ाई में हेल्प करें। कभी भी बच्चे के पढ़ाई में उसकी सहायता बच्चे के माता-पिता को करनी चाहिए और इससे बच्चे इनकरेज होते हैं और उन्हें पढ़ाई में मन भी लगता है।

  • टाइम टेबल बनाएं :-

    बच्चों को दिनभर पढ़ने के लिए फ़ोर्स करना भी ठीक नहीं है और इससे भी बच्चे पढ़ाई से दूर भागने लगते हैं। इसलिए आपको बच्चे के बेहतर शिक्षा के लिए उसके दिनचर्या का एक शेड्यूल बनाना चाहिए और टाइम टेबल में बच्चे के खेलने आने और पढ़ाई से संबंधित सभी प्रकार के टाइम टेबल को उसके हिसाब से तैयार करना चाहिए। बच्चा पढ़ाई के साथ-साथ अपने कार्यों को भी करेगा तब उसका मन पढ़ाई में भी लगेगा और वह पढ़ाई करने से नहीं भागेगा।

  • बच्चे के पढ़ाई करने के तरीके का समझे :-

    बच्चे को पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करने से पहले समझे कि आपका बच्चा किस प्रकार से पढ़ने के लिए तैयार होता है अर्थात उसकी पढ़ने की स्किल कैसी है।अगर आपका बच्चा कुछ लिखकर याद करता है, तो वह सिकरे याद होता है या फिर कुछ बोल कर याद करता है, तो उसे वह सिगरेट याद होता है, इन सभी बारीक बारीक चीजों पर आपको ध्यान देना है और फिर जब आप समझ जाए कि आपका बच्चा किस तरीके से पढ़ने में खुद को कंफर्टेबल महसूस करता है, ठीक उसी प्रकार से उसे पढ़ाई करने के लिए प्रोत्साहित करें और उसकी पूरी सहायता करें।

  • अपने बच्चों की बातों को समझे और सुने :-

    आज के समय में लगभग हर एक व्यक्ति के पास समय नहीं होता और यह आपके बच्चे के परिवार इस पर भी काफी ज्यादा गहरा असर डालता है। इसीलिए आपको समय निकालकर बच्चों की बातों को ध्यान से सुनना चाहिए अगर वह कुछ कहना चाहते हैं, तो उनकी फीलिंग को समझें और उन्हें सही गलत के बारे में समझाएं।

    अगर आपका बच्चा कुछ पढ़ाई के लिए आपसे डिस्कस करना चाहता है, तो आपको इस विषय पर भी उससे अच्छे से और बड़े ही प्यार से उसकी बातों को सुने।आपका बच्चा जिस विषय में पढ़ना चाहता है और जिस तरीके से पढ़ना चाहता है, उसके तरीकों को समझें और यदि सब कुछ आपको सही लगे तो आपको उसी तरीके से करने के लिए उसे प्रोत्साहित करें, जिस पर वह पढ़ने के लिए कंफर्टेबल खुद को महसूस करता है।

  • बच्चे को पढ़ने के लिए किसी भी प्रकार का लालच ना दे :-

    बच्चे के घर में पढ़ाने के लिए आपको उसके पढ़ाई के लिए सकारात्मक तारीफ करनी चाहिए और बच्चों को पढ़ाई करने के लिए किसी भी प्रकार का लालच नहीं देना चाहिए। अगर आप बच्चे को पढ़ने के लिए लालच देंगे तो वह पढ़ने के लिए बैठ तो जाएगा, परंतु उसकी रूचि पढ़ाई के प्रति नहीं लगेगी और उसका ध्यान भी पढ़ाई में नहीं लगेगा सिर्फ आप की लालच की वजह से वह बच्चा पढ़ने के लिए बैठ जाएगा। बच्चों को कभी भी पढ़ाई के लिए खुद को प्रोत्साहित करना चाहिए और अगर आपका बच्चा खुद पढ़ने के लिए बैठेगा तो उसका मन भी पढ़ाई के प्रति लगेगा और पढ़ने में आपका बच्चा तेज भी होगा।

  • पढ़ाई के लिए निश्चित स्थान का करें चयन :-

    आज के समय में लोग शहरों में रहते हैं और शहरों में फ्लैटों में ज्यादा जगह नहीं मिलती अर्थात हमारे कहने का तात्पर्य है, कि बच्चों को पढ़ने के लिए एक अलग से स्टडी रूम बनाना चाहिए। अगर आपका बच्चा पढ़ रहा है और आप भी उसी कमरे में टीवी देख रहे हैं तो उसका मन पढ़ाई में नहीं लगेगा, इसीलिए बच्चे के पढ़ाई के दौरान या तो आप उसके लिए वातानुकूल माहौल तैयार करें या फिर उसके पढ़ाई के लिए एक स्टडी रूम को बनाएं।

निष्कर्ष :-

आज के इस महत्वपूर्ण लेख में हमने आप सभी लोगों को बच्चे को घर पर पढ़ने के लिए कैसे प्रोत्साहित करें (bacche ko ghar per badhane ke behtarin tips)? और बच्चे को घर पर पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करें (bacche ko ghar par padhne ke liye kyon protsahit Karen)? इस विषय पर विस्तार से जानकारी दी है और हमें उम्मीद है कि आप लोगों को आज का यह लेख अधिक पसंद आया होगा और साथ ही में सहायक सिद्ध हुआ होगा।यदि इस लेख से संबंधित अगर आपको कोई सवाल या फिर सुझाव है, तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बताएं एवं साथ ही में हमारे इस लेख को अपने मित्र जन एवं परिजन के साथ अवश्य साझा करें, ताकि उन्हें भी आज के इस महत्वपूर्ण जानकारी के बारे में इस एक लेख से संपूर्ण जानकारी प्राप्त हो सके।