कीवी फल खाने के फायदे और नुकसान क्या है?

Advantages and disadvantages of Kiwi fruit in Hindi : दोस्तों कीवी फल अन्य विशेष फलों में से कोई ताल्लुक नहीं रखता है, परंतु इसके होने वाले स्वास्थ्य लाभ की वजह से लोग इसे विशेष फल का दर्जा वर्तमान समय में प्रदान कर चुके हैं। कीवी फल जितना देखने में अच्छा लगता है, उतना ही इसका खट्टा मीठा स्वाद भी लोगों को पसंद आता है। आज के इस लेख में हम आप सभी लोगों को कीवी फल खाने के स्वास्थ्य लाभ और हानि (Advantages and disadvantages of kiwi fruits in Hindi) के बारे में विस्तार पूर्वक से जानकारी प्रदान करने वाले हैं। यदि आप भी आज का स्वास्थ्य वर्धक लेख पढ़ना चाहते हैं, तो इसे अंतिम तक अवश्य पढ़ें और अपने स्वास्थ्य को सुरक्षित रखें।

कीवी फल क्या है (Kiwi fruit kya hai)?

अगर दोस्तों आपने पहली बार कीवी फ्रूट का नाम सुना है, तो आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि आखिर कीवी फ्रूट क्या होता है (what is kiwi fruit in Hindi) ? और कीवी फ्रूट कैसा दिखता है (How to identify Kiwi fruit in Hindi) ?। दोस्तों इसके जवाब भी आपको आगे हम बताने वाले हैं। दोस्तों कीवी फल बाहर से भूरा और अंदर से मुलायम एवं हरे रंग का होता है।कीवी फल के अंदर काले रंग का छोटा-छोटा बीज होता है और आप इस बीच को खा भी सकते हैं। कीवी फल के अंदर अनगिनत स्वास्थ्य गुण पाए जाते हैं और इसका सेवन करने पर अनेकों प्रकार के स्वास्थ्य लाभ होते हैं। दोस्तों कीवी फल भारत, चीन, जापान और दक्षिण पूर्व साइबेरिया में पाए जाने वाला फल है। कीवी फल का वैज्ञानिक नाम एक्टिनिडिया डेलिसिओसा (Actinidia deliciosa) है।

कीवी फल के अंदर कौन-कौन से औषधि गुण पाए जाते हैं? (Drug Properties of Kiwi Fruit in Hindi)

दोस्तों कीवी फल का सेवन स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभकारी है और कीवी फल के अंदर बहुत सारे स्वास्थ्यवर्धक गुण पाए जाते हैं और इतना ही नहीं डॉक्टर प्लेटलेट की कमी होने पर कीवी फल का सेवन करने की प्राथमिकता देते हैं। इन सभी लाभों के अतिरिक्त और भी अनेकों प्रकार के औषधि गुण कि फल के अंदर पाए जाते हैं (kiwi fal ke properties in Hindi), जो इस प्रकार से नीचे दर्शाए गए हैं।

  • एंटीऑक्सीडेंट गुण
  • एंटी -इंफ्लेमेटरी
  • एंटी-हाइपरटेंसिव
  • एंटीथ्रोम्बोटिक 
  • विटामिन सी , 
  • पोटैशियम
  • कैल्शियम 
  • फाइबर 
  • विटामिन – E

कीवी फल में पाए जाने वाले पोषक तत्वों की सूची और उनकी मात्रा (List of nutrients found in Kiwi fruit and their quantity in Hindi)

दोस्तों कीवी फल के अंदर बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते हैं और अब आगे हम इस चार्ट के माध्यम से जानते हैं, कि कीवी फल में कौन-कौन से पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं (kiwi fruit nutrition list in Hindi) ? और उनकी कितनी मात्रा कीवी फल के अंदर मौजूद होती है, इसकी जानकारी इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है।

पोषक तत्वमात्रा प्रति 100 g
पानी83.07 ग्राम
ऊर्जा61 केसीएल
प्रोटीन1.14 ग्राम
टोटल लिपिड (फैट)0.52 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट14.66 ग्राम
फाइबर, टोटल डाइटरी3.0 ग्राम
शुगर, टोटल8.99 ग्राम
कैल्शियम34 ग्राम
आयरन0.31 मिलीग्राम
मैग्नीशियम 17 मिलीग्राम
फास्फोरस34 मिलीग्राम
पोटैशियम312 मिलीग्राम
सोडियम3  मिलीग्राम
जिंक0.14 मिलीग्राम
कॉपर0.13 मिलीग्राम
सेलेनियम0.2 मिलीग्राम
विटामिन-सी , टोटल एस्कॉर्बिक एसिड92.7 मिलीग्राम
थाइमिन0.027 मिलीग्राम
राइबोफ्लेविन0.025 मिलीग्राम
नियासिन0.341 मिलीग्राम
विटामिन-बी60.063 मिलीग्राम
फोलेट DFE25 माइक्रोग्राम
विटामिन-ए ,RAE4 माइक्रोग्राम
कैरोटीन, बीटा52 माइक्रोग्राम
ल्युटीन+जियाजैंथिन122  माइक्रोग्राम
विटामिन-ई (अल्फा-टोकोफेरॉल)1.46 मिलीग्राम
विटामिन-के (फायलोक्वनोन)40.3 माइक्रोग्राम
फैटी एसिड, टोटल सैचुरेटेड0.029 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल मोनोअनसैचुरेटेड0.047 ग्राम
फैटी एसिड, टोटल पॉलीअनसैचुरेटेड0.287 ग्राम

कीवी फल का सेवन कैसे करें (How to eat Kiwi fruit in Hindi)?

Kiwi fruit ko kaise khayen : दोस्तों अगर आप कीवी फल के स्वास्थ्य लाभ को देखते हुए इसका सेवन करना चाहते हैं, तो आप कीवी फल का सेवन अनेकों प्रकार से कर सकते हैं और इसकी जानकारी इस प्रकार से निम्नलिखित बिंदुओं के माध्यम से दर्शाई गई है।

  • दोस्तों कीवी फल को आप बिल्कुल सामान तरीके से काटकर और इसके अंदर के गुदे को निकालकर खा सकते हैं।
  • अगर आप चाहे तो कीवी फल का सेवन आप इसके के जूस के रूप में कर सकते हैं।
  • आप कीवी फल को फ्रूट सलाद के रूप में भी खा सकते हैं।
  • कीवी फल को आप अन्य फलों के स्मूदी के रूप में भी सेवन कर सकते हैं।
  • दोस्तों आप कीवी फ्रूट कस्टर्ड के रूप में भी मिलाकर सेवन कर सकते हैं।


कीवी फल को कब खाते हैं और कितना खाते हैं (When and how much eat kiwi fruit in Hindi)?

दोस्तों अगर आपके मन में सवाल उठ रहा है, कि आखिर हम कीवी फल का स्वास्थ्य लाभ प्राप्त करने के लिए इसे किस समय खाएं (kiwi fruit khane ka Sahi time kya hai) ? और इसका खाने का सही समय क्या है एवं कीवी फल को कितनी मात्रा में खाएं (kiwi fruit ko kitni Matra mein khayen) ?, तो दोस्तों आपको इतना ज्यादा कुछ नहीं सोचना है। कीवी फ्रूट को सुबह, दोपहर और शाम कभी भी अपने आवश्यकता के अनुसार सेवन कर सकते हैं। कीवी फल को खाने के लिए कोई भी एक निश्चित समय निर्धारित नहीं किया गया है और आप इसे कभी भी अपने इच्छा के अनुसार खा सकते हैं। और कीवी फल को एक या फिर आधा अपनी इच्छा अनुसार इसकी मात्रा के रूप में खा सकते हैं और 1 दिन में आपको कम से कम 1 कीवी फल का सेवन तो करना ही चाहिए।

कीवी फल खाने के फायदे कौन-कौन से हैं? (Benefits of consuming kiwi fruit in Hindi)

जैसा कि हमने आपको शुरुआत में ही बताया कि विफल का सेवन करने पर इसके अनेकों स्वास्थ्य लाभ हमें प्राप्त होते हैं। चलिए इस लेख में आगे की ओर बढ़ते हैं और जानते हैं कि कीवी फल खाने के क्या-क्या फायदे होते हैं (kiwi fruit ke benefit Hindi mein) ? जो इस प्रकार के नीचे निम्नलिखित वर्णित है।

डेंगू के इलाज के रूप में कीवी के फायदे

दोस्तों जैसा कि हम आप सभी लोगों को बताना चाहते हैं, डेंगू की बीमारी होने पर इसके रोगियों का प्लेटलेट तेजी से नीचे गिरता है और प्लेटलेट बढ़ाने के लिए हम डेंगू के बीमारी के इलाज के रूप में कीवी के फल का सेवन कर सकते हैं। कई सारे स्वास्थ्य चिकित्सक भी शरीर में प्लेटलेट्स की संख्या को बढ़ाने के लिए कीवी फल के सेवन का परामर्श देते हैं।

कब्ज और पाचन की बीमारी में कीवी के फायदे

दोस्तों अगर आप कमजोर पाचन जैसी समस्याओं से जूझ रहे हैं, तो आप इस समस्या से निजात पाने के लिए कीवी फल का सेवन कर सकते हैं। कई सारे चिकित्सकीय शोधों में पाया गया है, कि कीवी फल का करीब 4 हफ्तों तक कब्ज और पाचन जैसी समस्या से निजात पाने के लिए किया जाए तो इसमें इसके सेवन से सुधार होता है। कीवी फल के अंदर लैक्सेटिव गुण पाए जाते हैं, जो पेट को साफ करने में और पाचन तंत्र को मजबूत करने में अपनी अहम भूमिका निभाते हैं।

प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि करने के लिए कीवी के फायदे

जैसा कि हम सभी लोग वाली बात ही तो जानते हैं, अगर हमें किसी बीमारी से लड़ना है या फिर खुद को स्वस्थ रखना है
, तो हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होनी चाहिए और तभी हम किसी भी सामान्य बीमारी से लड़ सकते हैं और खुद को स्वस्थ रख सकते हैं। कीवी फल के अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के कई सारे गुण पाए जाते हैं और एक रिसर्च के मुताबिक अगर नियमित रूप से कीवी फल का सेवन किया जाए, तो रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है।

अस्थमा के इलाज के रूप में कीवी के फायदे

अस्थमा की बीमारी बहुत ही ज्यादा रोगियों को परेशान करने वाली बीमारी होती है। अस्थमा की बीमारी में रोगी को सांस लेने में और अपने नियमित दिनचर्या को करने में अनेकों प्रकार की कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अगर आप अस्थमा की बीमारी से निजात पाना चाहते हैं, तो आप कीवी फल का नियमित रूप से सेवन कर सकते हैं और अस्थमा जैसी बीमारी से खुद को सुरक्षित एवं सही रख सकते हैं। कीवी फल के अंदर विटामिन सी की मात्रा पाई जाती है और इसके परिणाम स्वरूप अस्थमा के इलाज के रूप में कीवी का फल खाया जा सकता है।

वजन कम करने में कीवी फल सहायक

कीवी फल के अंदर अच्छी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट फाइबर के रूप में मौजूद होते हैं और इसी की वजह से आपको जल्दी जल्दी भूख महसूस नहीं होती है। इसके अतिरिक्त करीब 100 ग्राम की भी के अंदर 55 कैलोरी होती है और यह शरीर में विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में भी आपकी सहायता करता है। नियमित रूप से कीवी फल का सेवन करने से भूख लगने की प्रक्रिया धीरे-धीरे कम होती जाती है और इसकी वजह से आपका वजन भी नियंत्रित होने लगता है।

प्रेगनेंसी में कीवी फल के फायदे

प्रेगनेंसी में महिलाओं को कीवी फल का सेवन करना चाहिए, प्रेगनेंसी के दौरान इसका सेवन करने पर गर्भवती महिला को गर्भपात होने की कम हो जाती है और जच्चा बच्चा दोनों को ही आवश्यक पोषक तत्व और विटामिंस इसके सेवन से मिलते हैं।

कीवी फल खाने के नुकसान (Disadvantages of eating kiwi fruit in Hindi)

दोस्तों जिस प्रकार से कीवी फल के खाने के बहुत सारे फायदे हैं, ठीक उसी प्रकार के इसके सेवन के कुछ नुकसान भी है (kiwi fal ke disadvantage in Hindi) , जो इस प्रकार से नीचे निम्नलिखित है।

  • कुछ लोगों को एलर्जी की समस्या रहती है और ऐसे में कीवी फल का सेवन उनके लिए एलर्जी की समस्या को उत्पन्न करने के लिए काफी है। अगर आपको किसी भी प्रकार की एलर्जी है, तो आपको सबसे पहले इसके सेवन से डॉक्टर की सलाह लेना चाहिए।
  • कीवी फल का सेवन करने से दस्त की समस्या भी हो सकती है।
  • कीवी फल में पोटेशियम की मात्रा अधिक पाई जाती है और किडनी की समस्या से जूझ रहे लोगों को इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
  • अत्यधिक मात्रा में कीवी फल का सेवन करने से वजन बढ़ने या फिर मोटापा जैसी समस्या के भी खतरे हो सकते हैं।

निष्कर्ष :-

दोस्तों आज के इस महत्वपूर्ण लेख में हमने आप सभी लोगों को कीवी फल क्या है और कीवी फल के फायदे एवं नुकसान क्या है इस विषय पर विस्तार पूर्वक से जानकारी दी है और हमें उम्मीद है कि आज की है जानकारी आपके लिए काफी सहायक सिद्ध हुई होगी। इस लेख से संबंधित अगर आपको कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमें कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं।