Biography Archive

सरदार पटेल के जीवन के प्रेरक प्रसंग

सरदार वल्लभ भाई पटेल का जन्म 31 अक्टूबर, 1875 में गुजरात के नडियाद में एक किसान परिवार में हुआ था। उनकी माता का नाम लाडबा देवी एवं पिता का नाम झवेरभाई पटेल था। सरदार पटेल बचपन से ही बहुत परिश्रमी थे और पिता के साथ खेती में हाथ बटाते थे। हाईस्कूल की पढाई के बाद

स्टीफन विलियम हॉकिंग

“मुझे मौत से कोई डर नहीं लगता, मगर मुझे मरने की भी कोई जल्दी नहीं है। क्योंकि मरने से पहले भी जिंदगी में बहुत कुछ करना बाकी है।” ये कहना है महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का ! स्टीफन हॉकिंग (Stephen William Hawking) के शरीर का कोई भी अंग काम नहीं करता है, वो न चल

अरुणिमा सिन्हा

दोस्तों आज एक ऐसी महिला की कहानी आप लोगों के साथ share करने का जा रहा हूँ, जिसे पढ़कर आपकी रूह काँप उठेगी, आपके शरीर में Current दौड़ जायेगा और आप भी अपने जीवन में कुछ अच्छा करने पर मजबूर हो जायेंगे। दोस्तों सुख-दुखः तो हर इंसान के जीवन में लगे ही रहते लेकिन अरुणिमा

कौन हैं यूपी BJP अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य?

दोस्तों हमारा देश भारत एक प्रजातान्त्रिक देश है जिसमे प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से प्रजा का ही शासन चलता है। जनता ही सरकार है, जनता ही शासक है। आम बोलचाल की भाषा में कहें तो, जो किसी काम की अगुआई करे वो नेता हो जाता है और जो जनता के दिलों में बस जाये, जो

महात्मा गांधी की जीवनी

दोस्तों आज हम सभी भारतवासी आजादी की खुली हवा में साँस ले रहे हैं तो उसका श्रेय उन तमाम देशप्रेमियों को जाता है जिन्होंने देश की रक्षा के लिए अपना तन, मन और धन सब कुछ न्योछावर कर दिया। उन लोगों ने अंग्रेजो की गोलियां खाई और भारत की आजादी (Independence) के लिए हँसते-हँसते फांसी

धीरुभाई अंबानी

धीरजलाल हीरालाल अंबानी या धीरुभाई अंबानी का जन्म 28 दिसम्बर 1932, को जूनागढ़, चोरवाड़, गुजरात के एक बहुत ही सामान्य परिवार में हुआ था। उनके पिता हीराचंद अम्बानी गाँव की एक शिक्षण-संस्था में पढ़ाते थे, तथा माता जमनाबेन एक घरेलू महिला थीं। कहा जाता है की धीरुभाई अंबानी ने अपना उद्योग व्यवसाय सप्ताहंत में गिरनार

चार्ली चैपलिन की जीवनी, Quotes & Films

चार्ली चैपलिन : 19वीं सदी का एक ऐसा मूक हास्य अभिनेता जिसने असल जिंदगी में तमाम कठिनाइयों के बावजूद पूरी दुनिया को हँसाता रहा, और अपने अभिनय के बदौलत पूरी दुनिया में ख्याति प्राप्त की। दोस्तों आइये आज हम बात करते हैं चार्ली चैपलिन के जीवन के बारे में और उनके द्वारा दुनिया को दिए

पी० वी० सिंधु या पुसरला वेंकट सिंधु

दोस्तों दुनिया के हर खिलाड़ी का सपना होता है क़ि वह ओलंपिक में खेले और जीतकर अपने देश के लिये मैडल लाये। हर खिलाड़ी अपने खेल में जीतने की पूरी कोशिश करता है, लेकिन उन सब में जीतता वही है जिसके पास हिम्मत, ताकत और Techniques के साथ-साथ कुछ कर गुजरने का जज्बा या जुनून

खुदीराम बोस

दोस्तों हमारे देश भारत को आजाद करवाने के लिए न जाने कितने नौजवानों ने अपनी जान न्योछावर कर दी, माताओं ने अपने लाल खोये और न जाने कितनी सुहागिने विधवा हो गईं। इन सबका हिसाब लगाना नामुमकिन है। उन लोगों ने अंग्रेजों के अत्याचार सहने के बजाय मौत को गले लगाना ज्यादा बेहतर समझा। और

मुंशी प्रेमचंद

मुंशी प्रेमचंद का हिन्दी साहित्य में इतना महत्त्वपूर्ण स्थान है कि यदि उनके साहित्य का अध्ययन न किया जाए तो हिंदी साहित्य का अध्ययन निश्चित रूप से अधूरा ही माना जाएगा। उन्होंने यथार्थवादी साहित्य की शुरुआत की। उन्होंने पहले उर्दू में साहित्य लिखना प्रारम्भ किया फिर हिंदी में। वे इतने ख्यातिप्राप्त साहित्यकार थे कि उन्हें