UP बैंकिंग सखी योजना

उत्तर प्रदेश राज्य में राज्य सरकार द्वारा हाल ही में एक नई योजना को लागू किया गया है जो कि ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकों की पहुँच को सुनिश्चित करेगी। इस योजना के तहत गावों में लोगों को बैंकिंग की सहायता बैंक सखी के द्वारा घर घर जा कर पहुँचाई जाएगी। जिसका सबसे बडा फायदा यह होगा की अब ग्रामीण लोगों को शहर मे आकर बैंकों के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।

उत्तर प्रदेश बैंक सखी क्या है (What is Uttar Pradesh Bank Sakhi)?

उत्तर प्रदेश राज्य के मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगीजी ने कहा है कि इस UP Banking Sakhi Yojan के अंतर्गत राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाएं अब नये डिजिटल मोड के माध्यम से बैंक द्वारा लोगों के घरों पर बैंकिंग सेवाएं और पैसे का लेनदेन मे सहायता प्रदान करेंगी जिससे ग्रामीण लोगो को भी इससे कई सारी सुविधाएँ होंगी और महिलाओ को भी इससे अच्छा रोज़गार मिलेगा। इस नई उत्तर प्रदेश बैंकिंग संवाददाता सखी योजना द्वारा ग्रामीण महिलाओं को कमाई करने के लिए व काम करने में मदद मिलेगी। इन सभी महिलाओ  (बैंकिंग कॉरेस्पॉन्डेंट सखी) को जो इस योजना से जुडती है, उनको 6 महीने तक 4 हजार रुपये तक की धनराशि प्रति माह सरकार सैलरी के तौर पर द्वारा दी जाएगी। इसके अलावा बैंकों से भी महिलाओ को लेनदेन पर पत्येक कमिशन भी मिलेगा। जिससे उनकी हर महीने एक आय निश्चित हो जाएगी।

उत्तर प्रदेश बीसी सखी में कार्य करने वाली महिलाओं को दी जाने वाली सैलरी व सुविधाएँ (Salary and facilities given to women working in Uttar Pradesh BC Sakhi)

इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को दी जाने वाली सैलरी व सुविधाएँ – 

  • जो भी महिलाए इस उत्तर प्रदेश बीसी बैकिंग सखी योजना के अंतर्गत कार्य करती है उन्हे पहले 6 महीने तक ₹4000 प्रतिमाह सैलरी के रूम मे दिये  जायेंगे।
  • इस योजना मे सखी द्वारा बैंकिंग डिवाइस जो भी आवश्यक होते है उन्हे खरीदने के लिए अलग से ₹50000 की राशि दी जाएगी। 
  • एवं इसके अलावा सखियों को बैंकिंग कार्यों के लिए उन्हे प्रत्येक ट्रांजेक्शन पर एक कमीशन भी दिया जाएगा। 
  • सखीयों को जो इस योजना मे जुडती है उन्हो 6 महीने पूरे होने के बाद उनको दिये जाने वाले कमीशन के माध्यम से कमाई की जाएगी एवं उन्हे बढाया भी जाएगा।

उत्तर प्रदेश बीसी सखी योजना के लाभ (Benefits of Uttar Pradesh BC Sakhi Scheme)

उत्तर प्रदेश मे उत्तर प्रदेश बीसी बैंकिंग सखी योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के ग्रामीण महिलाओं को अच्छी क्वालिटी का रोज़गार प्रदान करना तथा आम जनता को बैंकिंग सुविधाएँ नये डिजिटल रूप में घर – घर उनकी पहूच सुनिश्चित करना। इस योजना की मदद स अबे लोग घर पर रह कर ही बैंक से जुडे पैसों का लेन देन कर सकते हैं। 

उत्तर प्रदेश में बैंकिंग सखी के कार्य (Banking Sakhi functions in Uttar Pradesh)

उत्तर प्रदेश मे इन महिलाओं द्वारा निम्न कार्य किये जायेंगे – 

  • बैकिंग सखी द्वारा जनधन सेवाएं को ग्राम – ग्राम तक पहूचाना। 
  • बैंक सखी गांवो मे घूम – घूम कर लोगो को प्रक्रिया के अनुसार लोन मुहैया करायेंगी।
  • बैंक सखी लोगो को दिये हुए लोन की रिकवरी भी करेगा। 
  • इस योजना मे लगी सखी लोगो को घर – घर जाकर पैसे जमा करने व निकालने की सुविधा देगी।
  • यह बैकिंग सखी इस योजना के तहत स्वयं सहायता समूह के सदस्यों की सेवाएं भी प्रदान करेंगी। 

उत्तर प्रदेश बैंकिंग सखी के लिए योग्यता (Qualification for Uttar Pradesh Banking Sakhi)

उत्तर प्रदेश राज्य में बैंकिंग सखी के लिए कुक्ज मुख्य योग्यताएं निम्न है।

  • इस योजना के तहत महिलाएं जो आवेदन करना चाहती है वे उत्तर प्रदेश राज्य की मूल निवासी होने चाहिए।
  • महिला जो इस योजना के लिए आवेदन करती है वे दसवीं कक्षा पास होनी चाहिए।
  • महिलाओ को जो इस मे आवेदन करती है उन्हें उतना ज्ञान होना चाहिए कि वे बैंकिंग सेवाओ को समझ सके।
  • उम्मीदवार महिलाएं नियमानुसार पैसो का लेन-देंन करने में पूर्ण सक्षम होनी चाहिए।
  • नियुक्त महिला को इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस (  ED ) चलाने की समझ आवश्यकतानुसार होनी चाहिए।
  • उत्तर प्रदेश सखी योजना के अंतर्गत केवल उन्ही महिलाओं को नियुक्त किया जायेगा जो इस बैंकिंग के संबंधित काम-काज को समझ सके और उन्हें पढ़ -लिख सके।

उत्तर प्रदेश की इन Sakhi Yojana के अंतर्गत राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग सुविधाएं को बेहतर ढंग से पहुंचाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने महिलाओं को नियुक्त करने का अच्छा फैसला लिया है। इस योजना के पहले चरण में राज्य की 56,875 अभ्यर्थियों का चयन किया गया है। इस योजना के अंतर्गत इनके लिए प्रशिक्षण15 दिसंबर 2020 से शुरू हो जाएगा।

निष्कर्ष

इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में बैंकिंग सेवाओ को बेहतर बनाने के लिए इस योजना का शुभारम्भ किया गया है। उत्तर प्रदेश मे उत्तर प्रदेश बीसी बैंकिंग सखी योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य के ग्रामीण महिलाओं को अच्छी क्वालिटी का रोज़गार प्रदान करना तथा आम जनता को बैंकिंग सुविधाएँ नये डिजिटल रूप में घर – घर उनकी पहूच सुनिश्चित करना। उम्मीद करते हैं आपको यह लेख पसन्द आया होगा।

Faq

प्रश्न 1 – उत्तर प्रदेश बैंकिंग सखी को बन सकता है ?

उत्तर – उत्तर प्रदेश बैंकिंग सखी बनने के लिए आवेदक का उत्तर प्रदेश राज्य का मूल निवासी होना जरूरी होता है।

प्रश्न 2 – उत्तर प्रदेश बैंकिंग सखी का मुख्य उद्देश्य क्या है ?

उत्तर – उत्तर प्रदेश बैंकिंग सखी का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रो में बैंकिंग सुविधाओ को पहचान इसका मुख्य उद्देश्य है।

प्रश्न 3 – उत्तर प्रदेश बैंकिंग सखी की सैलरी क्या होगी ?

उत्तर – जो भी महिलाए इस उत्तर प्रदेश बीसी बैकिंग सखी योजना के अंतर्गत कार्य करती है उन्हे पहले 6 महीने तक रू4000 प्रतिमाह सैलरी के रूम मे दिये  जायेंगे।