शक्ति जीवन है, कमजोरी मृत्यु के समान है

मित्रो, पन्त जी की ये पंक्तिया आपने भी पढ़ी होंगी…“प्रकृति का नियम निश्चल, जो जैसा उसको वैसा फल“ शुरू में यह कहा गया है की प्रकृति की उदारता सभी जीवो पर समान रूप से है ये हवा, जल, धरती, आकाश, सूरज, चाँद, नदी पर्वत आदि यानि सम्पूर्ण प्रकृति भेद-भाव रहित है जो सर्वथा सत्य है, … Read more

माँ तो आखिर माँ ही होती है (Mother is God best Gift)

Swami Vivekanand Quotes in Hindi

माँ तो आखिर माँ ही होती है, कोई दूसरा उसकी जगह कभी नहीं ले सकता। एक बार की बात है एक जिज्ञासु ने स्वामी विवेकानन्द जी से एक प्रश्न किया, “माँ की महिमा संसार में क्यों सबसे ज्यादा गाई जाती है?” उसकी बात सुनकर स्वामी जी मुस्कुराये और मुस्कुराते हुए उस व्यक्ति से बोले।।। पांच … Read more