भारत माता (Bharat Mata)

माँ, जब कोई बच्चा जन्म लेता है तो सबसे पहले उसके मुख से माँ शब्द निकलता है। माँ और बच्चों का एक अटूट रिस्ता होता है। जैसी हमारी माँ है वैसे ही हमारी भारत माता है इसी भारत माता को कुछ पंक्तियाँ “मनोज मौर्या” जी ने समर्पित की है।

मिट गई हस्ति शान से
बह गये आंसू अरमान के
भारत मा तेरे लिये
कट गये सिर् फिर शान से

तेरे लिये पैदा हुआ
जीया तेरे लिये हमेशा
दे मुझको फिर दुआ अगले जनम में
कटाऊँ सिर् फिर शान से

लिया कोख से जनम जिसके
उसका भी एहसान है मुझ पर
पर तू तो उनकी भी माँ
तेरे लिये मरूंगा फिर शान से

लूं बार बार जनम
तेरे लिये ए माँ
यही मेरा अरमान है
सारी दुनिया का पता नहीं
पर देश मेरा महान है
भारत मा बेटो को सलाम

manoj-maurya
-मनोज मौर्या
भदोही (उ. प्र.)

यदि आपके पास स्वलिखित कोई अच्छे लेख, कविता, News, Inspirational Story, या अन्य जानकारी लोगों से शेयर करना चाहते है तो आप हमें “[email protected]” पर ईमेल कर सकते हैं। अगर आपका लेख हमें अच्छा लगा तो हम उसे आपकी दी हुई details के साथ Publish करेंगे।
धन्यवाद!