कुछ महत्वपूर्ण बातें जो एक सफल (अमीर) व्यक्ति को आम आदमी से अलग करती हैं – सफलता का राज

Tips of Success in Life in Hindiदोस्तों आज के इस मँहगाई के समय में हर कोई अमीर बनना चाहता है। इसके लिए वह दिन-रात कड़ी मेहनत भी करता है। इसके बावजूद भी बहुत से लोग सफल नहीं हो पाते हैं। असफल होने पर ज्यादातर लोग अपनी किस्मत को दोष देते हैं। वहीं, कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो बहुत कम समय में सफलता के शिखर पर पहुंच जाते हैं। ऐसे में आपके मन में यह सवाल उठना लाज़मी है कि धनी लोगों में ऐसा क्या खास होता है, जिसके दम पर वे बड़ा Empire तैयार कर लेते हैं। आइए, हम आपको उनकी योग्यताओं व खासियतों के बारे में बताते हैं, जो सफलता की ऊंचाइयों पर पहुंचते में आपकी भी मदद कर सकती हैं।

1. लक्ष्य का निर्धारण
किसी भी काम को करने के लिए सबसे पहले उसकी तह तक जाना या उसके बारे में गहराई से जानना बहुत जरुरी होता है। आपने कभी यह सोचा है कि एक लेजर बीम किसी भी कठोर चीज को कैसे काट देता है। ऐसा इसलिए होता है कि बीम अपनी पूरी क्षमता एक ही स्थान पर केंद्रित करता है। ऐसा कर वह कठोर से कठोर चीज को काट देता है। ठीक इसी तरह की जीवटता अमीर या सफल लोगों में होती है। वे अपनी पूरी शक्ति एक समय में एक ही काम पर लगाते हैं। वहीं, आम लोग एक वक्त में कई कामों को एक साथ लेकर चलते हैं। ऐसे में वे अपने लक्ष्य से भटक जाते हैं और असफल हो जाते हैं।

2. लक्ष्य पर केंद्रित
अमीर और गरीब के बीच दूसरा बड़ा अंतर गोल को लेकर संजीदा होने का होता है। अमीर लोग अपने लक्ष्य (Goal) को लेकर हमेशा सजग रहते हैं। दुनिया भर के 80 फीसदी अमीर लोग अपनी सफलता की वजह अपने गोल पर Focus होना मानते हैं। वे अपने तय किए हुए गोल को पाने के लिए कड़ी मेहनत (Hard Work) करते हैं। उनके लिए गोल प्राप्त करने के लिए कोई Chance Factor नहीं होता है।

3. सोचने का विस्तृत दायरा (Wide Thinking)
अमीर और गरीब के बीच तीसरा सबसे बड़ा अंतर सोचने का दायरा होता है। अमीर लोग हमेशा दूर की सोचते हैं या खुल कर सोचने में विश्वास रखते हैं जबकि आम लोग ऐसा नहीं कर पाते हैं। ज्यादातर लोग अपनी जीवन को बेहतर बनाने के चक्कर में ही सोचते रह जाते हैं। इस कारण वह कभी भी बड़ा नहीं सोच पाते हैं।

4. समय का मूल्य (Value of Time)
अमीर और गरीब के बीच समय का उपयोग करने में भी बड़ा फर्क होता है। अमीर आदमी हर एक पल के अनुसार प्लान बनाकर काम करते हैं, जबकि आम लोग महीने और साल में इसकी गणना करते हैं। अमीर जब घंटे के हिसाब से सोचते हैं तो वे अपना समय सही कामों में उपयोग कर पाते हैं। दो घंटा भी किसी फालतू के काम में खराब करते हैं तो उनको इसका अहसास हो जाता है। वहीं, आम लोग के कई दिन बर्बाद हो जाए फिर भी उनको इसका पता नहीं चल पाता है।

5. सीखने की ललक (Eager to Learn)
अमीर बनने के लिए समय व स्थिति के अनुसार चलना बहुत जरूरी होता है। अमीर आदमी अपने अंदर हमेशा नई चीजें सीखने की ललक बरकरार रखता है। किसी ने कहा है कि जिसके पास जितना ज्ञान होगा वह उतना तेजी से आगे बढ़ेगा। इसलिए अमीर आदमी हमेशा कुछ न कुछ नया सीखने का प्रयास करता है। वह टीवी देखकर या गप्पें मरकर समय बर्बाद करने के बजाय अच्छी किताबें पढ़ना ज्यादा पसंद करता है।

6. काम के प्रति जिद्दी होना (Workaholic)
सफल या अमीर लोग किसी भी कार्य को लगन और मेहनत से करते हैं। वे अपने काम के प्रति जिद्दी होते हैं। असफलता हाथ लगने के बावजूद वह उस कार्य में लगे रहते हैं। यह क्रम तब-तक चलता रहता है जबतक कि वो पूर्णतया उस कार्य में सफलता न प्राप्त कर लें। कई दफा इस प्रक्रिया में अमीर लोग अपना सब कुछ दांव पर लगा देते हैं या डुबा लेते हैं। फिर भी अपने तय लक्ष्य को पाने के लिए डटे रहते हैं। यही उनके सफलता का मूल मंत्र होता है। Finally वे सफल होकर ही दम लेते हैं।

7. नेटवर्किंग की समझ (Intelligence of Networking)
अमीर लोग नेटवर्किंग के पावर को बहुत अच्छी तरह समझते हैं। वे अपने लक्ष्य में Support करने वाले लोगों से मिलकर एक-दूसरे से अपनी knowledge share (networking) करते हैं। इससे उनको अपने लक्ष्य को पाने में सहुलियत मिलती है। नेटवर्किंग से अमीर आदमी और इनोवेटिव हो जाते हैं और इसका इस्तेमाल वे अपने काम में करते हैं। इससे उनको सफल होने में मदद मिलती है।

8. आत्मविश्वाश (Self Confident)
आमतौर पर आम आदमी ख्यालों में लॉटरी, जैकपॉट या कोई बड़ा इनाम कहीं से मिलने की आस लगाए हुए रहता है। उसे लगाता है कि किश्मत उसका साथ देगी तो वह कुछ दिनों में करोड़पति बन जाएगा। इस चक्कर में वह अपना कीमती समय बर्बाद करता रहता है, लेकिन अमीर बनने वाला आदमी कभी भी ऐसा नहीं सोचता है। वह सतत प्रयास कर और निरंतर पैसा कमाने पर अपना पूरा ध्यान केंद्रित करता है।

9. विकाश कार्यों पर नजर (Track His Development)
आम आदमी अपनी किए हुए काम को शायद ही ट्रैक करता है। वह इस बात की परवाह बहुत ही कम करता है कि उसने पीछे क्या पाया और खोया। वहीं, अमीर आदमी या सफल व्यक्ति अपने कार्य को हमेशा खुद से Track करता रहता है। वह अपने किए हुए कामों में खामियां ढूंढता है और उसे बेहतर करने का प्रयास करता रहता है।

10. भाग्य और Luck पे विश्वाश (Don’t Believe in Luck)
गरीब आदमी या आर्थिक रूप से कमजोर लोग अपने भाग्य या लक को कोसते हैं। अपनी असफलता के पीछे luck को जिम्मेदार मानते हैं। वहीं, अमीर आदमी के शब्दकोष (Dictionary) में लक या भाग्य जैसा कोई शब्द (Word) नहीं होता है। वे अपने मेहनत और कर्म पर विश्वास करते हैं।

loading...

Comments

  1. By Ashish kumar

    Reply

  2. By chirag gupta

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *