ऊनी कपड़ों के रखरखाव के लिए आसान टिप्स

how to take care of woolen garments in hindiऊनी कपड़ों को साफ रखने के कई शानदार तरीके हैं। आपने भी शायद सर्दियों के कपड़ों को धोने और उनके रखरखाव के लिए कई अलग-अलग सुझावों को सुना होगा। जैसे ऊनी कपड़ों (Woolen Clothes) को धोने के लिए पानी का सही तापमान क्या है? इन्हे कितनी बार धोने की आवश्यकता होती है या किन ऊनी कपड़ों को नहीं धोना चाहिए? आज हम आपके लिए ऊनी कपड़ों के रखरखाव से सम्बंधित आसान टिप्स लाये हैं जो आपको अपने शीतकालीन कपड़ों की गुणवत्ता और मज़बूती बनाये रखने में बहुत ही मददगार साबित होंगें।

हमेशा कपड़े धोने से पहले उसपे लगे टैग को पढ़ें:
विशेष निर्देशों के बारे में जांचने के लिए उन्हें धोने से पहले हमेशा अपने कपड़ों पर लगे हुए टैग की जांच करें। आम तौर पर अधिक महंगे कपड़े या विशेष रूप से बुने हुए या डिज़ाइन किए गए वस्त्रों के लिए कुछ विशेष निर्देश टैग के माध्यम से बताये जाते हैं । कुछ कपड़ों को पेशेवर क्लीनर (Professional Cleaners) से साफ़ करवाना चाहिए, तो वहीं कुछ ऊनी कपड़े केवल सूखे तरीके से साफ हो सकते हैं। कई तरह के कपड़ों को सिर्फ़ हाथों से ही धोना चाहिए। ऊनी कपड़ों को सही ढंग से सुखायें, धोने के सही तरीकों के साथ-साथ, गर्म कपड़ों को सुखाने का सही तरीका भी टैग पर लिखा होता है। सुझाए गए निर्देशानुसार ऊनी को धोयें और सुखायें।

पानी का तापमान सही होना चाहिए:
इस बात से अवगत रहें कि तापमान कपड़े के गुणों को प्रभावित करता है। आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले पानी का तापमान भी कपड़ों की गुणवत्ता को बरकरार रखने के लिए अत्यंत महत्त्वपूर्ण है। ज्यादा गर्म पानी अक्सर कपड़े को सुकोड़ देता है, इसलिए पानी का तामपान अनुपात में रखें जैसा टैग पर अंकित है या अगर टैग नहीं भी है तो ऊनी वस्त्रों को अधिक गरम पानी में नहीं डुबोना चाहिए।

सभी प्रकार के गर्म कपड़ों को एक साथ न भिगोयें:
हर कपड़े की बनावट और उसकी गुणवत्ता अलग अलग होती है। अक्सर ऐसा देखा गया है की धोने के दौरान हम सभी कपड़ों को एक साथ भिगो देते हैं जिसकी वजह से कपडे ख़राब होने की संभावना अधिक गहरा जाती है। कपड़ों को बनाने के दौरान उसमें भिन्न प्रकार के केमिकल अथवा अन्य जरूरी पदार्थों को मिश्रण किया जाता है। कपडे की गुणवत्ता (Quality of Clothes) अच्छी है या बुरी है वह उसकी बनावट और उसमें उपयोग किये गए मिश्रणों पर ही निर्भर करता है। अतः आप अत्यंत महंगे कपड़ों को अलग धोने का प्रयास करें।

जेब की जांच करना सुनिश्चित करें:
यदि आपके किसी गर्म कपड़े में जेब है तो उसकी जांच करना कभी न भूलें। स्याही, कलम और अन्य ऐसी वस्तुएँ आपके कपड़े को ख़राब कर देंगी। ऊनी कपड़ों से ऐसे दाग धब्बे हटाना काफी मुश्किल है, अतः जेब की तलाशी जरूर लें।

शीतकालीन कपड़े धोने से पहले डिटर्जेंट और सॉल्वैंट्स में इस्तेमाल किए गए रसायनों का आकलन कर लें:
आजकल बहुत से सॉल्वैंट्स और डिटर्जेंटस में आमतौर पर कई रसायनों (Chemicals) का उपयोग किया जाता है। इन रसायनों में से कई रसायन ऊनी कपड़ों के लिए बहुत कठोर और हानिकारक (Harmful) हो सकते हैं, यह कपड़े के प्रकार पर निर्भर करता है। यदि डिटर्जेंट में बहुत से रसायनों का मिश्रण है, तो उसका इस्तेमाल बिकुल न करें अन्यथा आपका कपड़ा ख़राब हो सकता है। कम कठोर रसायनों से बने डिटर्जेंट का ही इस्तेमाल करें। इसके अलावा आप विशेष रूप से शीतकालीन कपड़ों के लिए बने डिटर्जेंट का इस्तेमाल करें तो बेहतर होगा।

कपड़े पर परफ्यूम या स्प्रे का इस्तेमाल न करें:
ऊनी कपड़े काफी नाज़ुक होते हैं इसलिए इन्हें अच्छी तरह से संभाला जाना चाहिए। इन कपड़ों पर सेंट-स्प्रे नहीं करना चाहिए इससे कपड़े की मज़बूती पर असर होता है।

सर्दियां आने वाली हैं, उम्मीद है यह जानकारी आपके काम आएगी !!

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *