वैसे तो दुनिया का हर व्यक्ति किसी न किसी रिश्ते से बंधा हुआ है लेकिन संसार में माँ और उसकी संतान से बढ़कर शायद ही कोई रिश्ता होगा। प्राचीन काल से ही माँ को दुनिया में सर्वोच्च स्थान प्राप्त है। माँ और उसके बच्चों का रिश्ता बहुत ही निर्मल होता है। जब भी कोई बच्चा