“हमारी ज़िन्दगी यूँ तो है, इक काँटों भरा जंगल। अगर लगने लगे मधुबन, समझ लेना कि होली है।।” कवी नीरज गोस्वामी की इन पंक्तियों से आप समझ सकते हैं कि होली का त्यौहार एक आम आदमी के जीवन में क्या महत्व रखता है। होली का त्यौहार एक ऐसा त्यौहार है जब इंसान तो क्या, प्रकृति