Maa Brahmacharini (द्वितीय नवदुर्गा: माता ब्रह्मचारिणी)

नवरात्रि का दूसरा दिन माता ब्रह्मचारिणी को समर्पित है। इस दिन माता ब्रहमचारिणी मां दुर्गा के द्वितीय शक्ति स्वरूप के रूप में की जाती है। मां स्वेत वस्त्र पहने दाएं हाथ में अष्टदल की माला और बांए हाथ में कमण्डल लिए हुए सुशोभित है। पैराणिक ग्रंथों के अनुसार माता ब्रह्मचारिणी पर्वतराज हिमालय की पुत्री थीं तथा नादर के उपदेश के बाद यह भगवान को पति के रूप में पाने के लिए इन्होंने कठोर तपस्या किया। इसी कठिन तप के कारण इनका नाम ब्रह्मचारिणी पड़ा। कहते है कि इन्होंने भगवान शिव को पाने के लिए एक हजार वर्षों तक सिर्फ फल खाकर ही रहीं तथा अगले तीन हजार सालों की तपस्या सिर्फ पेड़ों से गिरी पत्तियां खाकर की थीं। इसी कड़ी तपस्या के कारण उन्हें ब्रह्मचारिणी व तपस्चारिणी कहा गया है। कठोर तप के बाद इनका विवाह भगवान शिव से हुआ। माता ब्रह्मचारिणी आनन्द मयी और दयामयी हैं।

Mata Brahmachariniमाँ दुर्गा का दूसरा रूप (2nd Form of Maa Durga): कठोर तप और ध्यान की देवी “ब्रह्मचारिणी” माँ दुर्गा का दूसरा रूप हैं। इसीलिये इनकी उपासना नवरात्रि के दूसरे दिन की जाती है।

देवी ब्रह्मचारिणी: ‘ब्रहाचारिणी’ माँ पार्वती के जीवन काल का वो समय था जब वे भगवान शिव को अपने पति के रूप में पाने के लिए कठोर तपस्या कर रही थी। तपस्या के प्रथम चरण में उन्होंने केवल फलों का सेवन किया फिर बेल पत्र और अंत में निराहार रहकर कई वर्षो तक तप कर भगवान शिव को प्रसन्न किया। इनके दाहिने हाथ में जप की माला और बाएँ हाथ में कमण्डल सुशोभित होता है।

माँ ब्रह्मचारिणी का मंत्र (Mata Brahmacharini Mantra): माँ ब्रह्मचारिणी की पूजा अर्चना के लिए यह मंत्र है-

दधाना करपद्माभ्यामक्षमालाकमण्डलू।
देवी प्रसीदतु मयि ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा॥

पूजा में उपयोगी वस्तु: भगवती को नवरात्र के दूसरे दिन चीनी का भोग लगाना चाहिए और ब्राह्मण को दान में भी चीनी ही देनी चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से मनुष्य दीर्घायु होता है। इनकी उपासना करने से मनुष्य में तप, त्याग, सदाचार आदि की वृद्धि होती है।

नवरात्रि पूजा और माता के नौ रूपों को जानने के लिये Click करें

यदि आपके पास स्वलिखित कोई अच्छे लेख, कविता, News, Inspirational Story, या अन्य जानकारी लोगों से शेयर करना चाहते है तो आप हमें “info@sochapki.com” पर ईमेल कर सकते हैं। अगर आपका लेख हमें अच्छा लगा तो हम उसे आपकी दी हुई details के साथ Publish करेंगे।
धन्यवाद!

loading...

Comments

  1. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *