पिज्जा बर्गर के रैपर्स हो सकते हैं बच्चों में कैंसर के कारण

burgers and pizza

दोस्तों तेज रफ़्तार की इस जिंदगी में जाने अनजाने में हम स्वास्थ्य के प्रति बहुत ही उदासीन हो चले हैं। दौड़ भाग भरी इस जिन्दगीं में खान-पान की पौष्टिकता और गुणवत्ता न जाने कहाँ गुम हो गयी है। क्या बड़े क्या छोटे, हर कोई Processed Food की तरफ मुड़ चला है। खास तौर से बच्चे जो की सुबह से शाम तक Packed Snacks, Quick Made Foods खा कर ही जिन्दा रह रहे हैं, चाहे वो सुबह सुबह की चिप्स, कुरकुरे हों या इसी तरह के बाजार में मिलने वाले अन्य खाद्य पदार्थ जो कि बच्चों के स्वास्थ्य के लिये बहुत ही हानिकारक होते है, और जिसका आज नहीं तो कल बच्चों पर इसका प्रभाव जरूर पड़ेगा।

आज कल हम लोगों को राह चलते बहुत सी खाद्य पदार्थ की दुंकाने दिख जाती हैं, जहाँ बच्चे अक्सर खाने की जिद करने लगते हैं, ऐसे ही एक दुकान है पिज़्ज़ा की दुकान। दोस्तों पिज़्ज़ा खाने में तो बहुत ही स्वादिष्ट लगता है किन्तु यह बच्चों के स्वस्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक है।

दरअसल Food Processing में बर्गर्स या पिज़्ज़ा को फोल्ड करते हैं और जिन रैपर्स का उपयोग हम करते हैं उनमे दो दर्जन से अधिक Fluorinated Chemicals पाए जाते हैं, जो कि बहुत ही खतरनाक होते हैं तथा इनसे कैंसर होने का खतरा बहुत ज्यादा होता है।

शोधकर्ताओं के काफी अध्ययन के बाद ये पता चला है कि Food Packaging तथा पिज़्ज़ा या बर्गर्स जिन Greaseproof Papers में पैक होकर आते हैं उनमे दो दर्जन से अधिक Fluorinated Elements पी ऍफ़ ए (पीईआर और पॉलीफ्लोरोअल्काइल पदार्थ) जिसे पीएफसी भी कहते हैं, पाए जाते हैं, और ये पुराने Recycled Elements या अनिश्चित पदार्थों से बनाये जाते हैं, जिनके कारण बच्चों में कैंसर (Cancer) सम्बंधित, विकास सम्बंधित तथा प्रजनन सम्बंधित समस्यांए पैदा होने लगी हैं।

इनसे होने वाली कुछ बीमारियां निम्नलिखित हैं :-

कैंसर की बीमारी
थायराइड की बीमारी
प्रतिरोधक क्षमता की बीमारी
प्रजनन सम्बंधित बीमारी
जन्म के समय वजन काम होना
शारीरिक विकास में कमी
मष्तिस्क सम्बंधित बीमारी

पिज्जा, बर्गर्स या अन्य फ़ास्ट फूड्स के Rappers के अलावा फ्लोरिनेटेड एलिमेंट्स हमारे घरों में पाए जाने वाले नॉन स्टीक तथा स्टेन प्रतिरोधी बर्तनों में, कार्पोरेट, ऑउटडोरर कपड़ों तथा वाटरप्रूफ पदार्थों में पाया जाता है।

इसलिए हमें बर्गर व पिज्जा जैसे Junk Foods से दूर रहना चाहिए, या इसका सेवन जितना हो सके उतना कम से कम करना चाहिए तथा अपने बच्चों को भी ऐसे खाद्य पदार्थों से दूर रखना चाहिए जो कि स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होते हैं। इसके बदले में हमें घर में बनी हुई शुद्ध, स्वास्थ्यवर्धक व संतुलित आहार लेना चाहिए। इसका हमारे शरीर पर अनुकूल प्रभाव पड़ता है, जिससे हमारा शरीर मजबूत और बलशाली बनता है और बीमारियों का नाश होता है।

उम्मीद है कि उपरोक्त दी गई जानकारी आप लोगों को पसंद आएगी और आप अपने बच्चों और स्वयं को इन सब चीजों से दूर रखेंगे। अगर जानकारी अच्छी लगे तो Comment और Share जरूर करें। धन्यवाद !

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *