Stories Archive

सफाई : ज्ञान का पहला पाठ

गाँधीजी अफ्रीका के सत्याग्रह में सफलता प्राप्त कर हिन्दुस्तान लौट आये थे। वे अपने गुरू श्री गोखले के कथनानुसार समूचे देश में घूम रहे थे। भ्रमण के दौरान बिहार के कुछ लोग उनसे मिले। बिहार के चम्पारन में गोरे जमींदारों ने भारी जुल्म मचा रखा था। बिहार के कुछ लोग जो गांधीजी से मिले, उन

परोपकार का महत्व

एक पुराने जंगल में शेर और शेरनी का एक जोड़ा रहता था। कुछ दिनों के बाद शेरनी ने दो सुन्दर बच्चों को जन्म दिया। एक बार की बात है, शेर और शेरनी दोनों बच्चों छोड़कर शिकार की तलाश में जंगल में दूर निकल गये। काफी देर हो जाने के कारण भूख से छोटे बच्चों का

स्टीफन विलियम हॉकिंग

“मुझे मौत से कोई डर नहीं लगता, मगर मुझे मरने की भी कोई जल्दी नहीं है। क्योंकि मरने से पहले भी जिंदगी में बहुत कुछ करना बाकी है।” ये कहना है महान वैज्ञानिक स्टीफन हॉकिंग का ! स्टीफन हॉकिंग (Stephen William Hawking) के शरीर का कोई भी अंग काम नहीं करता है, वो न चल

अरुणिमा सिन्हा

दोस्तों आज एक ऐसी महिला की कहानी आप लोगों के साथ share करने का जा रहा हूँ, जिसे पढ़कर आपकी रूह काँप उठेगी, आपके शरीर में Current दौड़ जायेगा और आप भी अपने जीवन में कुछ अच्छा करने पर मजबूर हो जायेंगे। दोस्तों सुख-दुखः तो हर इंसान के जीवन में लगे ही रहते लेकिन अरुणिमा

Maha Shivaratri व्रत, पर्व और कथा

महाशिवरात्रि हिंदुओं का एक प्रमुख त्योहार है जिसमे भगवान शिवा की पूजा की जाती है. भगवान शिव को यू तो प्रलेयंकारी देवता के रूप मे जाना जाता है. लेकिन वे थोड़ी सी भक्ति मे प्रसन्न भी हो जाते है इसलिए भगवान शिव मनुष्य, देवता और राक्षसों सब के प्रिय है और इसलिए इन्हें भोलेनाथ भी

पिताजी के जूते

दोस्तों आप लोगों ने राजा-रानी व परियों की पुरानी कहानियाँ तो बहुत पढ़ी और सुनी होंगी। आज मैं आपको एक Real Story से अवगत कराने जा रहा हूँ। हो सकता है ऐसी घटना आप में से बहुतों के साथ घटी भी होगी ! यह एक ऐसी कहानी है जिसे पढ़कर शायद आपकी आँखों में आँसू

बदलाव – Motivational Story in Hindi

दोस्तों मनुष्य की जिंदगी का Graph कभी भी सीधा (Straight) नहीं होता है। प्रत्येक व्यक्ति के जीवन में उतार-चढ़ाव आना निश्चित है, क्योंकि बिना उतार-चढाव या सुख-दुःख के जीवन असंभव है। लेकिन इन बुरे हालात के साथ-साथ हमें अपने आप को बदलना बहुत ही जरुरी है। तभी हम अपनी Life को सही ढंग से Enjoy

कहीं आप भी खूटियों से तो नहीं बंधे हैं?

कुछ दिनों पहले की बात है, एक व्यक्ति राजस्थान का Tour करने गया था। उसे रास्ते में एक ढाबा मिला। उसने भोजन किया और रात में वहीँ रूक गया। थोड़ी देर बाद उसी ढाबे में व्यापारियों का एक दल भी आकर रुका, जिनके पास कई सारे ऊँट (Camel) थे। उन व्यापारियों के साथ एक नौकर

यह समय भी कट जायेगा

बहुत समय पहले की बात है, एक बार कुछ साधू विचरण करते हुए एक राजा के दरबार में पहुँच जाते हैं। राजा ने पूरे मन से उन साधुओं का अतिथि सत्कार किया। सभी साधू राजा से बहुत प्रसन्न हुए और वापस जाते वक्त साधुओं के गुरु ने राजा को एक ताबीज दिया और बोले, “राजन,

बुरी सोच का बुरा नतीजा

एक बार एक राजा ने अपने राज्य के सभी ब्राह्मणों को भोजन के लिए आमन्त्रित किया। राजा ब्राह्मणों को लंगर में महल के आँगन में भोजन करा रहा था। और राजा का रसोईया खुले आँगन में भोजन पका रहा था। उसी समय एक चील अपने पंजे में एक जिंदा साँप को लेकर राजा के महल