Author Archive

सोने से पहले खाएं 2 लोंग और फिर देखें चमत्कार।

हमेशा ही जड़ी बूटियां हो या कोई मसाले हमारे लिए सबसे ज्यादा फायदेमंद होते हैं। उनमे से एक मसाला हमारे सामने आता है, वो है लौंग। लोंग इलाइची तो सभी लोग जानते हैं यह दोनों हमेशा लोग ज्यादातर खाते हैं और अपने किचन में मसालों के तौर पर प्रयोग करते हैं। लेकिन लौंग के बहुत

How to change your mindset

Your mindset is a complex mechanism comprising the knowledge received from life experience. It includes all the beliefs, thoughts and ideas about the outer world and your place in it. It is your all-natural filter for any information you get in, process and put out. Finally, it determines how exactly you receive and react to

गर्मियों में मच्छरों से बचने के उपाय।

जैसे-जैसे गर्मी बढ़ती चली जा रही है वैसे वैसे ही हम लोगों की भी मुसीबत बढ़ती ही जा रही हैं। कभी गर्मी से हो रही मुसीबत तो कभी मच्छरों के कारण हो रही मुसीबत। मच्छरों की मुसीबत से छुटकारा पाने के लिए आज हम आपको बहुत हैल्थी एक उपाय बताएंगे। जिसको करने से आपके घर

जीवन की कहानी

प्राचीन समय की बात है। एक राजा था जिसके राज्य की सीमाओं पर भयंकर जंगल थे। चारों ओर हिंसक वन्य पशुओं की चिंग्घाड़ों और दहाडों से आस-पास के क्षेत्र आतंकित रहते थे। उस राज्य की एक विचित्र प्रथा थी कि जो भी राजा बनता था उसके शासन की अवधि पांच वर्ष की होती थी। शासन

महापुरुषों के प्रेरक एवं अमर वचन

देश तथा विदेश के महापुरुषों के अनुभवों से उपजे प्रेरक एवं अमर वचन, जिन पर अमल करने से मनुष्य के जीवन का नक्शा ही बदल जाता है और उन्नति व सफलता उसके कदम चूमने लगती है। उनके अमर वचन मनुष्य के जीवन को आदर्श बना देते हैं। अपने जीवन को उज्जवल बनाने के लिए हमें

लाल बहादुर शास्त्री के जीवन के प्रेरक प्रसंग

लाल बहादुर शास्त्री भारत के दूसरे प्रधानमंत्री थे। वो एक ऐसे प्रधानमंत्री थे जिन्होंने अपने शाशनकाल में स्वजनों की, स्वजातियों और सगे – सम्बन्धियों की उपेक्षा करके सत्य की रक्षा की। यहाँ तक कि उन्होंने अपनी वृद्धा माता एवँ अपनी पत्नी की भी सिफारिश पर कभी जरा भी ध्यान नहीं दिया। सत्रह – अठारह वर्षों

सफाई : ज्ञान का पहला पाठ

गाँधीजी अफ्रीका के सत्याग्रह में सफलता प्राप्त कर हिन्दुस्तान लौट आये थे। वे अपने गुरू श्री गोखले के कथनानुसार समूचे देश में घूम रहे थे। भ्रमण के दौरान बिहार के कुछ लोग उनसे मिले। बिहार के चम्पारन में गोरे जमींदारों ने भारी जुल्म मचा रखा था। बिहार के कुछ लोग जो गांधीजी से मिले, उन

सुकमा नक्सली हमले में शहीद जवानों को श्रद्धान्जलि

सबसे पहले मेरी तरफ से सुकमा नक्सली हमले में शहीद हुए सैनिकों को भावपूर्ण श्रद्धांजलि ! दोस्तों आज जिस तरह से जवानों पर हमले हो रहे हैं और हमारी सरकार सिर्फ और सिर्फ सांत्वना दे रही है। दोस्तों अगर हमारी सरकार इसी तरह हाथ पे हाथ धरे बैठी रही तो आपस के झगड़े में हम

पृथ्वी दिवस (Earth Day)

दोस्तों आज हम लोग जिस माहौल में जी रहे हैं और जिस दूषित हवा में साँस ले रहे हैं, ऐसा कुछ दिनों तक और चलता रहा तो वह दिन दूर नहीं है, जब धरती पर जीवन असंभव हो जायेगा। चारो ओर त्राहि-त्राहि मच जाएगी, अगर समय रहते हमने अपने आप को प्रकृति के अनुरूप नहीं

परोपकार का महत्व

एक पुराने जंगल में शेर और शेरनी का एक जोड़ा रहता था। कुछ दिनों के बाद शेरनी ने दो सुन्दर बच्चों को जन्म दिया। एक बार की बात है, शेर और शेरनी दोनों बच्चों छोड़कर शिकार की तलाश में जंगल में दूर निकल गये। काफी देर हो जाने के कारण भूख से छोटे बच्चों का